Header Ads

जीवन में क्या खोया और क्या पाया?(Jeevan mein kya Khoya aur kya Paaya?)

जीवन में क्या खोया और क्या पाया?(Jeevan mein kya Khoya aur kya Paaya?)


जिंदगी में यदि कोई आपसे ये पूछे
“क्या खोया और क्या पाया है?”
तो पुरे विश्वास के साथ कहना कि
जो गाजर के हलुवे में डालते है वो खोया है
और जो खटिया मे नीचे चार डंडे खडे है वो पाया है
हमेशा भावुक होने की जरूरत नहीं!!


 

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();