Header Ads

उदास संता और मेंडक

उदास सांता और मेन्डक (Udaas Santa aur Mendak)

संता उदास बैठे पानी मे पत्थर मार रहा था..
एक मेढक निकल कर बोला
पानी मे आ तेरी उदासी उतारू साले
अपनी वाली के चक्कर मे मेरी वाली का सिर फोड दिया।”

एक आदमी ने फेसबुक पे स्टेटस डाला,आज मैं छत पर सोऊँगा
फिर क्या था पन्द्रह मच्छरों ने लाइक कर दिया

शादी की सालगिरह (Shaadi ki Saalgirah)
पत्नी को गुलाब देते हुए पति बोला सालगिरह मुबारक हो
पत्नी: यह नहीं मुझे कोई सोने की चीज़ चाहिए।
पति: ओ, यह लो तकिया आराम से सो जाओ 

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();