Header Ads

omg! बेटे को थी सेक्स देखने की लत , बाप ने काट डाला (Bete ko thi sex dekhne ki lat baap ne kaat dala)

आपको बता दें कि पिछले दिनों रिपोर्ट आई थी स्मार्टफोन को इंटरनेट का अधिक इस्तेमाल करने से युवाओं की मानसिकता पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है और आज हम आपको एक ऐसे ही खबर से रूबरू करवाने जा रहे हैं जिसको पढ़कर आप सुन हो जाओगे।
मोबाइल की लत युवाओं के लिए कितनी खतरनाक है यह भी साबित हो जाएगा और आपको बता दें कि बात यह है कि तेलंगाना की साइबराबाद में एक व्यक्ति ने अपने बेटे का हाथ काट दिया। व्यक्ति के बेटे का कसूर यह था कि उसका बेटा मोबाइल की लत के कारण सारा दिन मोबाइल में ही लगा रहता था और अश्लील फिल्में देखा करता था और पीड़ित बेटे की मां के बयान के आधार पर आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है और पीड़ित युवक को अस्पताल में भर्ती कर दिया गया है।
दोस्तों आपको बता दें कि यह घटना साहिबाबाद के पहाड़ी इलाके की है जहां पर 15 वर्षीय मोहम्मद कय्यूम कुरेशी नाम के व्यक्ति ने अपने बेटे का हाथ काट दिया क्योंकि वह अपने बेटे की $क्स फिल्मों को देखने की लत से बहुत परेशान था।
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मोहम्मद कोई उम्र पैसे से एक इलेक्ट्रिशियन है और अपने बेटे के लिए को लगी मोबाइल की लत से वह बहुत परेशान रहता था और जिसके कारण मैं बहुत नाराज था खालिद की मां ने बताया है कि कुछ दिन पहले ही उसके बेटे ने नया स्मार्टफोन खरीदा था और जिस पर वह दिन रात भर अश्लील फिल्में देखा करता था और खालिद के पिता उसकी इस हरकत के कारण बहुत नाराज रहते थे और दोनों के बीच झगड़ा भी हो चुका था।
इस दौरान 1 दिन दोनों के बीच इसी बात को लेकर झगड़ा हुआ और खालिद अपने पिता के हाथ पर दांत से काट कर घर से भाग गया था और उस दिन वह देर रात घर लौटा और उस दौरान घर के सभी सदस्य होने के कारण आरोपी पिता ने अपने बेटे को कुछ नहीं कहा और जब सोमवार को घर पर कोई नहीं था तो मोहम्मद कय्यूम उसके कमरे में गए और सो रहे खालिद के हाथ को एक छुरे से एक झटके में काटकर अलग कर दिया।
आपको बता दें कि इंस्पेक्टर लक्ष्मीकांत रेड्डी ने बताया है कि पीड़ित की मां के बयान के आधार पर आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया गया है।
दोस्तों अगर आप इस आर्टिकल के बारे में अपनी राय देना चाहते हैं तो कृपया कमेंट सेक्शन में जरूर अपनी राय दें।

No comments

'; (function() { var dsq = document.createElement('script'); dsq.type = 'text/javascript'; dsq.async = true; dsq.src = '//' + disqus_shortname + '.disqus.com/embed.js'; (document.getElementsByTagName('head')[0] || document.getElementsByTagName('body')[0]).appendChild(dsq); })();